Breaking News National

21 साल के बाद महातूफान का सामना करेगें तटीय क्षेत्र, तीनों सेनाओं मिलकर बनाया एक्शन प्लान

After 21 years, coastal areas will face Mahathupan, action plan made by three forces together

चक्रवाती तूफान अम्फान धीरे धीरे सुपर साइक्लोन का रूप धारण कर चुका है। जिससे बंगाल की खाड़ी समेत कई राज्य इसकी चपेट में आ सकते है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में पिछले 20 सालों के अंदर दूसरी बार ये भीषण चक्रवाती तूफान आया है। जिसकी वजह से बंगाल की खाड़ी में अलर्ट जारी किया गया। अनुमान लगाया जा रहा है कि, अम्फान तूफान भारत के तटवर्ती इलाकों से 275 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से टकरा सकता है।

इस भंयकर तूफान की चपेट में कई राज्य

आपको बता दें कि कई राज्य इस भंयकर तूफान की चपेट में आ सकते है। जिससे जानमाल को भारी नुकसान हो सकता है। जिसमें देश की राजधानी दिल्ली भी भंयकर चक्रवाती तूफान की चपेट में आ सकती है। यह चक्रवात तेज गति से पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश और उड़ीसा के समुद्र तट की ओर बढ़ता जा रहा है। 20 मई की शाम को यह दीघा समुद्र तट से टकरा सकता है उस समय इसकी गति 165 से 175 किलोमीटर से लेकर 195 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है। सूत्रों के अनुसार 20 मई की दोपहर या शाम को बंगाल के सुंदरवन इलाके के पास लैंडफॉल करने के आसार हैं।

NDRF की 53 टीमें है तैनात

प्रचंड चक्रवातीय तूफान ‘अम्फान’ के 20 मई को पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच तट पर पहुंचने का अनुमान है और इस गंभीर घटनाक्रम को ध्यान में रखते हुए एनडीआरएफ ने जानमाल की हानि/क्षति रोकने के लक्ष्य से बल की 53 टीमें तैनात की हैं। पश्चिम बंगाल में 19 टीमें तैनात हैं जबकि चार स्टैंडबाई पर हैं, वहीं ओडिशा में 13 टीमें तैनात हैं और 17 स्टैंडबाई पर हैं।

उड़िसा में सोमवार को दिखा भंयकर तूफान का असर

चक्रवात ‘अम्फान’ सोमवार को महाचक्रवात में बदल गया है।जिसकी शुरुआत बंगाल की खाड़ी में हुई है। जिससे ज्सादा असर तटीय इलाकों में देखने को मिल सकता है। उड़िसा के जगन्नाथ पुरी में इसका असर सोमवार से ही दिखने शुरू हो गया। अनुमान है कि पश्चिम बंगाल व ओड़िशा के तटीय इलाकों में मंगलवार और बुधवार को भारी तबाही मच सकती है। बिहार में 20,21 और 22 मई को अम्फान का असर पड़ेगा। इस दौरान तेज हवा के साथ बारिश और कहीं-कहीं ठनका गिरने का पूर्वानुमान है। आइएमडी पटना के मुताबिक सीधे तौर पर बिहार इस तूफान की चपेट में नहीं आयेगा।

यह भी पढ़ें-चक्रवात ‘अम्फान’ 12 घंटों में बन जाएगा सुपर चक्रवात, हाई अलर्ट पर कई राज्य

पीएम ने अलर्ट सिस्टम की कि तैयारी

चक्रवती तूफान अम्फन के लेकर  भारत के पीएम मोदी ने रेस्क्यू और अलर्ट सिस्टम की तैयारी की है जिसके तहत तीनों सेनाओं सहित एनडीआरएफ की टीमों को चौकन्ना रखा गया है।  साथ ही  कैबिनेट सचिव राजीव गौबा दोपहर 12बजे राष्ट्रीय संकट निगरानी समिति (NCMC) की बैठक करेंगे. NDRF के तैयार होने के साथ-साथ रक्षा बलों, बिजली और दूरसंचार विभागों को भी इमरजेंसी प्रतिक्रिया के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए।

Related posts

मध्य प्रदेश में शुरू हुआ सियासी उलटफेर, एक से भले दो की रणनीति पर कमलनाथ

admin

अस्पताल ने बनाया मुस्लमानों के खिलाफ नियम, हुई FIR

admin

निर्भया को मिला ऐतिहासिक इंसाफ, तिहाड़ में एक साथ चार को सजा-ए-मौत

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1