Breaking News State

दिल्ली के बाद पंजाब में केजरीवाल देगी मुफ्त का उपहार, एक करोड़ की सम्मान राशि और मुफ्त शिक्षा 

Arvind Kejriwal in Punjab Election

पंजाब || देश की राजधानी दिल्ली की सियासत पर छाने वाली आम आदमी पार्टी  और इसके राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में सियासी दांव खेलने के बेकरार है। पंजाब में विधानसभा चुनाव नज़दीक है। लिहाजा तमाम पार्टियां पंजाब में अपने पैर जमाने की कवायद में जुट गई है। पठानकोट में आयोजित विशाल तिरंगा यात्रा में शामिल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आने वाले चुनाव के मद्देनज़र पंजाब की जनता को दी दो वायदों की गारंटी।  ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘आप’की सरकार बनने पर पंजाब में पैदा होने वाले हर बच्चे को फ्री और अच्छी शिक्षा देंगे। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीबों और अमीरों के बच्चों को एक समान अच्छी शिक्षा देंगे।

पंजाब में सरकारी स्कूलों का बुरा हाल है। इनको दिल्ली की तरह ठीक करेंगे। हम नए स्कूल बनाएंगे और मौजूदा स्कूलों को तोड़कर शानदार स्कूल बनाएंगे। इसके अलावा, हमारी सरकार बनने के बाद अगर पंजाब का कोई सैनिक बॉर्डर पर या पंजाब पुलिस का कोई जवान किसी ऑपरेशन में शहीद होगा, तो उसके परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि दी जाएगी। ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चन्नी साहब कहते हैं कि केजरीवाल काला है। उनसे कहना चाहता हूं कि मैं भले काला हूं, लेकिन मेरी नियत अच्छी है। मेरी सरकार बनने पर सस्ते कपड़े पहनने वाला यह काला आदमी अपने सारे वादे पूरा करेगा। मैं चन्नी साहब की तरह झूठे वादे नहीं करता है।

नॉएडा और उत्तरप्रदेश से सस्ता हुआ दिल्ली में पेट्रोल डीज़ल, अभी और कम होगा क़ीमत

आपको बता दें कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार यह दावा करती नहीं थकती है कि दिल्ली की आप सरकार ने शिक्षा में न सिर्फ बेहतरीन बदलाव किए है बल्कि सरकारी विद्यालयों स्वरूप ही बदल दिया है। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज पंजाब दौरे पर पठानकोट पहुंचे। होटल पठानकोट के पास वेदी पेट्रोल पंप से शुरू हुआ तिरंगा यात्रा गढ़ी अहाता चौक पर जाकर समाप्त हुआ। करीब एक घंटे तक चली तिरंगा यात्रा में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, ‘आप’ पंजाब प्रभारी जरनैल सिंह, सह प्रभारी राघव चड्ढा, सांसद भगवंत मान, हरपाल सिंह चीमा, कुंवर विजय प्रताप, विभूति शर्मा, लालचंद, रमन बहल और वरिष्ठ नेता समेत बड़ी तादात में कार्यकर्ता शामिल हुए।

“शहीदों की पवित्र धरती पठानकोट में आकर मैं अपने आपको भाग्यशाली समझता हूं”

तिरंगा यात्रा के दौरान ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इतने सारे तिरंगे देखकर आज मजा आ गया। दिल में कुछ-कुछ होता है। इतने तिरंगे हम लोगों ने अन्ना आंदोलन में देखे थे। जब रामलीला मैदान में होते थे, तो इतने सारे तिरंगे होते थे और भारत माता की जय से पूरा आसमान गूंज रहा होता था। आज शहीदों और शूरवीरों की धरती पठानकोट को मैं नमन करता हूं। बताया जाता है कि भारत की फौज में सबसे ज्यादा भर्तियां गुरदासपुर और पठानकोट से होती हैं। सेना में सबसे ज्यादा सैनिक पठानकोट और गुरदासपुर से भर्ती होते हैं। अभी तक सबसे ज्यादा शहीद भी पठानकोट और गुरदासपुर से हुए हैं। मैं अपने आप को भाग्यशाली समझता हूं कि आज शहीदों की इस पवित्र धरती पर आया हूं।

“पंजाब को 24 घंटे और 300 यूनिट फ्री बिजली की गारंटी”

‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने पहली गारंटी बिजली की दी। पंजाब में आज बिजली बहुत महंगी है और हजारों रुपए के बिल आते हैं। दिल्ली में हमने 200 यूनिट बिजली मुफ्त कर दी। हमने पंजाब में गारंटी दी कि हमारी सरकार आएगी, तो हम हर परिवार की 300 यूनिट बिजली मुफ्त करेंगे। इसके साथ ही, हम 24 घंटे बिजली देंगे। पंजाब में बहुत लंबे-लंबे कट लगते हैं। जैसे हमने दिल्ली में करके दिखाया है। हम हवा में बात नहीं कर रहे हैं। जो-जो मैं कह रहा हूं, वो दिल्ली में करके दिखाया है। पंजाब में लाखों रुपए के बिजली के बिल लोगों के आए हुए हैं। हमारी सरकार आने पर हम पुराने सारे बिजली के बिल माफ करेंगे। यह बिजली की पहली गारंटी थी।

“कच्चे शिक्षकों को करेंगे पक्का और देंगे अच्छी तनख्वाह”

‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में गरीबों के 24 लाख बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ते हैं। सरकारी स्कूलों का बुरा हाल है। इनको ठीक करना चाहिए। जैसे दिल्ली में सरकारी स्कूल ठीक हुए, वैसे ही पंजाब में भी सरकारी स्कूल ठीक होने चाहिए। मेरी आज शिक्षा को लेकर पहली गारंटी है कि पंजाब में पैदा होने वाले हर बच्चे को फ्री और अच्छी शिक्षा देना पंजाब सरकार की जिम्मेदारी होगी। पंजाब में जो बच्चा पैदा होगा, उसको शानदार और फ्री शिक्षा देना पंजाब सरकार की जिम्मेदारी होगी। अब गरीबों के बच्चों को भी अच्छी शिक्षा मिलेगी और अमीरों के बच्चों को भी अच्छी शिक्षा मिलेगी। सबको एक जैसी अच्छी शिक्षा मिलेगी। दूसरी बात, इसके लिए हमें जितने भी नए स्कूल बनाने पड़ेंगे, हम नए स्कूल बनाएंगे।

गुर्जर समुदाय ने किया भाजपा का बहिष्कार, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #BoycottBJP, जानिए असली वजह

दिल्ली का 25 फीसद बजट हम स्कूलों पर खर्च करते हैं, क्योंकि हमारे बच्चे पढ़-लिख गए, तो देश को आगे बढ़ाएंगे, पंजाब बढ़ाएं और दिल्ली बढ़ाएंगे। मौजूदा स्कूलों की बिल्डिंग को तोड़कर स्कूलों की नई शानदार बिल्डिंग बनाई जाएंगी। तीसरा, पंजाब के शिक्षक बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन वे बहुत दुखी हैं। अभी हमारे वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया एक स्कूल में गए थे, वहां छह हजार रुपए में पांच क्लास को एक शिक्षक पढ़ा रहा था। वह अपनी जेब से पैसे खर्च करके स्कूल चला रहा है। इतने अच्छे शिक्षक कहां मिलेंगे? उन सभी शिक्षकों को पक्का किया जाएगा, अभी वे कच्चे हैं। उनको अच्छी तनख्वाह देंगे, इज्जत देंगे और उनके सारे मसले हल किए जाएंगे। मेरी एक गारंटी यह है कि पंजाब में भी दिल्ली की तरह शानदार शिक्षा करेंगे।

“तिरंगे की शान में चार-चांद तब लगेंगे, जब पंजाब के एक-एक बच्चे को मिलेगी शानदार शिक्षा”

इस दौरान दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस तिरंगे की शान में चार चांद तब लगेंगे, जब पंजाब के एक-एक बच्चे को शानदार शिक्षा मिलेगी। पिछले कई दिन से स्कूल को लेकर बातचीत हो रही है। चन्नी साहब कहते हैं कि कांग्रेस सरकार ने पांच साल में पंजाब के स्कूलों को देश में नंबर वन बना दिया है। मैं भी यही सोचता था। कल मैं पंजाब के सरकारी स्कूल को देखने गया। मैं चन्नी साहब की विधानसभा में ही स्कूल देखने गया था। जिस स्कूल में गया था, वहां पर पहले 70 बच्चे पढ़ते थे। स्कूल की हालत इतनी खराब हो गई है कि अब 30 बच्चे ही बचे हैं। 40 बच्चों के माता-पिता ने नाम कटवा दिया है।

यह भी देखें:- 6 दिसंबर को मस्जिद में मूर्ति रखने के ऐलान, बाबरी मस्जिद के बाद निशाने पर मथुरा की शाही मस्जिद

टॉयलेट खराब है और कमरों में जाले लगे हुए हैं। पीने का पानी नहीं है और पांच क्लास पढ़ाने के लिए सिर्फ एक टीचर है। उसको भी सिर्फ 6 हजार रुपए तनख्वाह दी जाती है। दूसरे स्कूल में भी वही हालत थी। चन्नी साहब को लगा कि नंबर वन स्कूलों की पोल खुल गई, तो उन्होंने अफसरों को आदेश कर दिए कि इनको स्कूलों में न जाने देना और गेट पर ताले लगा दिए। मैं कांग्रेस के नेताओं से कहना चाहता हूं कि पांच साल में आपने एक भी स्कूल में काम किया होता तो दिल्ली की टीम से डर कर, अरविंद केजरीवाल की राजनीति से डर कर आपको स्कूलों पर ताले नहीं लगाने पड़ते।

Related posts

येस बैंक के संस्थापक के परिवार पर ईडी का शिकंजा

admin

कोरोना वायरस से निपटने में चीन की मदद करेगा भारत, मोदी ने की थी मदद की पेशकश 

admin

आर्थिक तूफान आने वाला है, लोगों को कर्ज नहीं, कैश देना चाहिए-राहुल गांधी

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1