27.6 C
New Delhi
06/04/2020
Religious Sufism

हमारे सवालों और कुरआन के जवाब

Answers to our questions and Quran
मेरी ज़िन्दगी और मौत का मक़सद क्या है..? 

वह जिसने मौत और ज़िन्दगी पैदा की, कि तुम्हारी जांच हो (परीक्षा) तुम में किसका काम ज़्यादा अच्छा है  और वही (अल्लाह) इज़्ज़त वाला बख़्शिश वाला है।(माफ करने वाला है।) ( AL-MULK – 67:2 )

क्या अल्लाह मेरा इम्तिहान लेता है..? 

क्या लोग इस घमन्ड में हैं कि इतनी बात पर छोड़ दिये जायेंगे कि कहें हम ईमान लाए और उनकी आज़माइश न होगी। ( AL-ANKABUT – 29:2 )

अल्लाह मेरा इम्तिहान कैसे लेता है..?  

और ज़रूर हम तुम्हें आज़मायेंगे कुछ डर और भूक से और कुछ मालों और जानों और फलों की कमी से और ख़ुशख़बरी सुना उन सब्र वालों को।( AL-BAQARA – 2:155 ) 

और जान रखो कि तुम्हारे माल और तुम्हारी औलाद सब फ़ितना है (फ़48) और अल्लाह के पास बड़ा सवाब है। (फ़49)( AL-ANFAL – 8:28 )

हर जान को मौत का मज़ा चखना है और हम तुम्हारी आज़माइश करते हैं बुराई और भलाई से  जांचने को और हमारी ही तरफ़ तुम्हें लौट कर आना है। ( AL-AMBIA – 21:35 )

मुझ पर मुसीबतें क्यों आती है..?

और तुम्हें जो मूसीबत पहुंची वह उसके सबब से है जो तुम्हारे हाथों ने कमाया और बहुत कुछ तो (अल्लाह)  माफ़ फ़रमा देता है। (AL-SHURA – 42:30 ) 

ऐ सुनने वाले तुझे जो भलाई पहुंचे वह अल्लाह की तरफ़ से है और जो बुराई पहुंचे वह तेरी अपनी तरफ़ से है( AL-NISA – 4:79 )

मुझ पर मुसीबतें आती है तो क्या वो मेरे बर्दाश्त से ज्यादा होती है..? 


अल्लाह किसी जान पर बोझ नहीं डालता मगर उसकी ताक़त भर…( AL-BAQARA – 2:286 )

और हम किसी जान पर बोझ नहीं रखते मगर उसकी ताक़त भर और हमारे पास एक किताब है कि हक़ बोलती है  और उन पर ज़ुल्म न होगा। ( AL-MOMINOON – 23:62 )

Related posts

जानें छठ मैया की महिमा और छठ पूजा का शुभ मुहूर्त

admin

महाशिवरात्रि- भोले के भक्त करेंगे मौज, 117 साल बना दुर्लभ संयोग

admin

ईद मिलादुन्नबी( صلی اللہ تعالیٰ علیہ و آلہ و سلم ) कैसे मनाए ?

admin

1 comment

Leave a Comment

UA-148470943-1