Breaking News Political

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री की हालत नाजुक, इलाज के दौरान दी जा रही ऑडियो थेरेपी

Condition of former Chhattisgarh Chief Minister critical, audio therapy given during treatment

छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी की हालत गंभीर बताई जा रही है । बता दें अजीत जोगी की श्वसन गली में गंगा इमली अटक जाने से उनकी हालात खराब हो गई। जिसके बाद उन्हे  इलाज के लिए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायुपर स्थित श्री नारायण अस्पताल में एडमिड किया गया । गौरतलब है कि चौथे दिन भी अजीत जोगी की हालात नाजुक बनी हुई है।

बता दें दो दिन वह कोमा में है ।उनका मस्तिष्क भी काम नहीं कर रहा है। जिसे ठीक करने  के लिए जोगी को ऑडियो थेरेपी दी जा रही है।  ईयरफोन के जरिए उनके पसंदीदा गाने उन्हें सुनाए जा रहे हैं. इस उम्मीद से की उनके मस्तिष्क में कुछ हलचल हो।

ऑडियो थेरेपी के जरिए ठीक करने की कोशिश

डॉक्‍टरों का कहना है कि अजीत जोगी का हृदय सामान्य रूप से काम कर रहा है लेकिन उनकी न्यूरोलाजिकल (मस्तिष्क) गतिविधियां नहीं के बराबर हैं। डॉक्‍टरों की मानें तो वे अगले 24 घंटे के बाद ही बता पाने की स्थिति में होंगे कि उनके मस्तिष्क में कितनी गतिविधियां हैं। आपको बता दें कि अजीत जोगी के श्वसन नली में गंगा इमली का बीज अटक गया था जिसकी वहज से उन्हें हार्ट अटैक आया। डॉक्टरों ने गंगा इमली के बीज को ऑपरेशन के जरिए जोगी के श्वसन नली से निकाला। उसके बाद से ही अजीत जोगी आईसीयू में वेंटिलेटर में रखे गए हैं। बीते 10 मई को वह कोमा में चले गए थे और तबसे कोमा में ही हैं।

अजीत जोगी के हालत को जानने के लिए कई मंत्री अस्पताल पहुंचे

सोमवार को अजीत जोगी का हाल जानने के लिए छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और कई कांग्रेसी नेता नारायण अस्पताल गए थे. राज्यपाल अनुसूईया उइके, विधायक धर्मजीत सिंह, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल सहित राज्य सरकार के कई मंत्रियों ने भी अस्पताल पहुंचकर अजीत जोगी का हाल जाना था।

Related posts

सावधान- संक्रमण बढ़ा तो तीसरे चरण में होगा भारत, चीन जैसे होगें हालात

admin

पीएम मोदी को शिवाजी की उपाधी, शिवसेना ने बताया चाटुकारिता की हद

admin

2 लाख के करीब पहुँचा मृतकों का आंकड़ा, कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित 10 देश

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1