Political State

दिल्ली को हार बिहार के लिए जेपी नड्डा ने भरी हुंकार, नीतीश के साथ एनडीए का हाथ

Defeating Delhi, JP Nadda shouts for Bihar, NDA's hands with Nitish

पटना ||  दिल्ली के बाद बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तमाम राजनीतिक पार्टियां अलर्ट हो चुकी हैं। बिहार में नीतिश कुमार और लालू प्रसाद यादव की पार्टियों का अत्याधिक जोर है। बिहार की सियासत बीते कई चुनाव में गठबंधन की ट्वीस्ट देखने को मिल रहा है। बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनडीए का समर्थन प्राप्त कर लालू प्रसाद यादव की लालटेन चिन्ह वाली पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) से  दरकिनार कर राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

यह भी पढ़े- “राष्ट्रवाद” से बचें यह हिटलर, नाजीवाद और फासीवाद की तरह

बिहार में एक बार फिर जनता दल यूनाइटेड के साथ भारतीय जनता पार्टी के साथ चुनाव लड़ने और राज्य में सरकार बनाने के कयास लगाए जा रहे थे। जिस पर स्थिति अब पूरी तरह साफ हो चुकी है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने खुद इस मुद्दें पर सभी तरह के कयासों पर पूर्ण विराम लगाते हुए अगामी रणनीति स्पष्ट की।

5 सालों में बिहार की तस्वीर मजबूती के साथ बदली 

अपने बिहार दौरे पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने यह साफ किया कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के रूप में बिहार में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी नीतीश कुमार के ही नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। अध्यत्र जेपी नड्डा ने कहा कि बिहार में आने वाले चुनाव में हमको नीतीश कुमार के नेतृत्व में NDA की सरकार बने उसके लिए हमें पूरी ताकत लगानी है, हम सब को मिलकर उसको आगे बढ़ाना है।

यह भी पढ़े- प्रशांत किशोर ने निकाली नीतीश कुमार के बिहार विकास के दांवों की हवा 

इस दौरान उन्होने कहा कि पिछले 5 सालों में बिहार की तस्वीर मजबूती के साथ बदली है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बिहार को आशीर्वाद मिला है। हजारों करोड़ रुपये के विकास कार्य बिहार में हुए हैं। इस दौरान उन्होनें भारतीय जनता पार्टी के कार्यों का उल्लेख करते हुए जम्मू कश्मीर में लागू धारा 370 को निरस्त करने के साथ ही कांग्रेस पर धारा 370 को खत्म न कर पाने पर कटाक्ष भी किया।

किसी भी संगठन को चलाने के लिए पांच ‘क’ होने चाहिए

बिहार दौरे में कार्यलय उद्घाटन का हिस्सा बनें जेपी नड्डा ने बिहार के पटना के अपने पुराने दौर को याद किया। इस दौरान उन्होनें कहा कि ये मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि कार्यालय का उद्घाटन करने का मौका मुझे मिला है। हम बचपन में कहा करते थे कि किसी भी संगठन को चलाना चाहिए तो उसके पांच ‘क’ होने चाहिए: कार्यकर्ता, कार्यक्रम, कार्यकारणी, कोष और कार्यालय। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी ने योजना बनाई थी कि भाजपा का कोई भी जिला बिना कार्यालय के नहीं रहेगा।

यह भी पढ़े- किसी राष्ट्र का बड़ा होना दुनिया के लिए खतरनाक

590 कार्यालयों के जमीन ले ली गई है। 487 कार्यालय बन चुके हैं। बाकि के लिए जमीन लेने की प्रक्रिया चल रही है।  उद्घाटन के बाद जेपी नड्डा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात कर आगामी रणनीति पर विचार-विमर्श करेगें। इसके साथ ही राज्य के 11 जिलों में पार्टी कार्यालय का उद्घाटन भी करेंगे।

Related posts

लॉकडाउन में एक और बड़ा हादसा – मालगाड़ी ने मजदूरों को रौंदा, 16 की मौत

admin

किसान अपने फसल की खरीद के लिए ना हो परेशान, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

admin

झारखंड में अब तक तीसरी महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1