Breaking News Business News Share Market

लॉकडाउन के दौरान Jio संग Facebook की सबसे बड़ी डील

Facebook's biggest deal with Jio during lockdown

भारत में कोरोना से बचने के लिए देश में लॉकव्यापी लागू है। जिससे ट्रेन समेत हवाई यात्राएं ठप कर रखा है। एक तरफ जहां गरीब से लेकर अमीर लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो रही है। वहीं दूसरी तरफ देश के सबसे अमीर इंसान मुकेश अंबानी तरक्की करने लगे हुए हैं। जिसमें सोशल मीडिया क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी फेसबुक ने बुधवार को मुकेश अंबानी के नेतृव वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह की कंपनी जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है।  जिसकी जानकारी खुद कंपनियों ने बुधवार को इसकी घोषणा की।

फेसबुक का 10 प्रतिशत हिस्सा अंबानी ने खरीदा

सोशल मीडिया क्षेत्र की दिग्गज अमेरिकी कंपनी फेसबुक ने बुधवार को मुकेश अंबानी के नेतृव वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह की कंपनी जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 5.7 अरब डॉलर (43,574) करोड़ रुपये निवेश का करार किया है। जिसकी जानकारी खुद कंपनियों ने बुधवार को इसकी घोषणा की। इस सौदे से रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह को अपने कर्ज का बोझ कम करने में मदद मिलेगी तथा फेसबुक की भारत में स्थिति और मजबूत होगी। उसके लिए उपयोगकर्ताओं आधार के लिहाज से भारत इस समय भी सबसे बड़ा बाजार है।

जियो की शत प्रतिशत हिस्सेदारी जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड

रिलायंस के एक बयान में कहा, ‘आज हम रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 43,574 करोड़ रुपये (5.7 अरब अमेरिकी डॉलर) निवेश करने की घोषणा कर रहे हैं, जिससे फेसबुक इसका सबसे बड़ा अल्पांश शेयरधारक बन जाएगा।’ रिलायंस ने कहा कि फेसबुक के निवेश में जियो प्लेटफार्म्स का कीमत 4.62 लाख करोड़ रुपये आंकी गई। रिलायंस इंडस्ट्रीज के दूरसंचार नेटवर्क जियो की शत प्रतिशत हिस्सेदारी जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड के पास है। बयान में कहा गया है कि जियो प्लेटफार्म्स में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99 प्रतिशत होगी।

आरआईएल पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी

जियो प्लेटफार्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है, जो तमाम प्रकार की डिजिटल सेवाएं प्रदान करती है। इसके ग्राहकों की संख्या 38.8 करोड़ से अधिक है। आरआईएल द्वारा अपने कर्ज को कम करने के प्रयासों के तहत फेसबुक के साथ यह सौदा किया गया है। इसके लिए आरआईएल अपने व्यवसायों में रणनीतिक भागीदारी की तलाश कर रही है। समूह अपने तेल-रसायन कारोबार में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए सऊदी अरामको के साथ बातचीत भी कर रही है। समूह ने अगले साल तक कर्ज मुक्त होने का लक्ष्य तय किया है।

जियो में हिस्सेदारी के लिए कथित तौर पर गूगल से भी बातचीत की जा रही थी, लेकिन उन बातचीत के नतीजे के बारे में जानकारी फिलहाल नहीं है। ताजा सौदा जियो और फेसबुक दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट बाजार है।

Related posts

सिंधिया ने उपचुनाव के लिए भरी हुंकार, कांग्रेस को बताया 15 महीनों वाली सरकार

admin

निर्मला सीतारमण ने कोरोना को बताया दयनीय प्रकोप, कलेक्शन की कमी बनी वजह

admin

COVID-19 यूपी पुलिस प्रशासन की बेरहम वीडियो आया सामने

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1