30.1 C
New Delhi
August 20, 2019
simna
Photo Gallery Viral Gallery

सड़क पर की रैश ड्राइविंग या नहीं लगाया हेलमेट तो देना पड़ेगा भारी जुर्माना

लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी मोटर व्हीकल (संशोधन) बिल 2019 पास हो गया। इस बिल से सड़क दुर्घटनाओं को रोकने में काफी हद तक सहायता मिलेगी। क्योंकि बिल में ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन का प्रावधान है। संशोधित बिल में जुर्माने की रकम 10 गुना तक बढ़ा दी गई है, जिसके बाद सड़क पर नियमें की अनदेखी जेब पर बहुत भारी पड़ सकती है। केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने संसद में कहा कि सरकार हर हाल में सड़क हादसों पर लगाम लगाना चाहती है।

मोटर वाहन विधेयक में ट्रैफिक नियम जैसे खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाने, हेलमेट न पहनने, रेड लाइट जंप करने, शराब पीकर गाड़ी चलाने, सीट बेल्ट न लगाने पर पहले से लगने वाला जुर्माना कई गुना तक बढ़ जाएगा। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस बिल को पेश किया। दरअसल, देश में हर साल करीब डेढ़ लाख लोगों की सड़क हादसों में मौत हो जाती है। ट्रैफिक नियमों के बावजूद ज्यादातर लोग इनका पालन नहीं कर करते। नतीजा मौत और विकलांगता होती है। ट्रैफिक नियमों का पालन मजबूती से किया जाए, इसके लिए मोटर व्हीकल एक्ट 1988 में बदलाव कर मोटर व्हीकल (संशोधन) बिल 2019 को लोकसभा में पास कर अब राज्यसभा में पेश किया गया है।

 

हमारे देश में सबसे ज्यादा मामले बिना हेमलेट टू-व्हीलर चलाने के सामने आते है। लोग हेलमेट पहनने से ज्यादा तवज्जो चालान कटवाने को दे देते है क्योंकि अब तक बिना हेलमेट पकड़े जाने पर 100 रुपये का जु्र्माना लगता था। लेकिन अब सड़क पर बिना हेलमेट पकड़े जाने पर सीधा 1000 रुपये का चालान होगा। साथ ही नए नियम में तीन महीने के लिए लाइसेंस जब्त करने का प्रावधान है। तय सीमा से अधिक गति में गाड़ी चलाने पर धारा 182 के तहत पहले 400 रुपये जुर्माना लगता था, लेकिन अब हल्के वजन की गाड़ियों पर 1000 रुपये और मध्यम दर्जे की पैसेंजर गाड़ियों पर 2000 रुपये जुर्माना लगेगा। वहीं खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाने पर धारा-184 के तहत पहले 1000 रुपये का जुर्माना लगता था, अब 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा। तेज गति में गाड़ी चलाना या रेस करने पर धारा-189 के तहत पहले 500 रुपये का जुर्माना लगता था, अब 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा।

ट्रैफिक पुलिस के सामने बड़े पैमाने पर बिना लाइसेंस के मामले भी हर रोज आते हैं। या ता चालाक के पास लाइसेंस नहीं होता या फिर पकड़े जाने पर कहते हैं कि जल्दबाजी में लाइसेंस घर पर ही भूल आया। ऐसे मामले में अब तक धारा-181 के तहत 500 रुपये का जुर्माना वसूला जाता था। लेकिन अब बिना लाइसेंस ड्राइविंग के पकड़े जाने पर 5000 रुपये का जुर्माना भरना पड़ेगा। इसके अलावा बिना लाइसेंस के अनधिकृत वाहन चलाने पर धारा-180 के तहत पहले 1000 रुपये का जुर्माना लगता था, अब 5000 रुपये लगेगा एवं बिना योग्यता गाड़ी चलाने पर धारा-182 के तहत पहले 500 रुपये का जुर्माना था, जो अब बढ़ाकर 10 हजार रुपये कर दिया गया है। ओवरसाइज वाहन चलाने पर धारा-182बी के तहत 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा।

अब शराब पीकर गाड़ी चलाने पर धारा 185 के तहत 10 हजार रुपये जुर्माना वसूला जाएगा। पहले शराब पीकर गाड़ी चलाते पकड़े जाने पर 2000 रुपये जुर्माना लगता था, जिसे अब पांच गुना बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा बिना सीट बेल्ट के सड़क पर पकड़े जाने से धारा-194बी के तहत पहले 1000 रुपये का चालान होगा। पहले महज 100 रुपये का चालान होता था। सरकारी बसों में बिना टिकट लिए सफर के आदी हैं तो संभल जाएं. अब पकड़े जाने पर (धारा-178) के तहत 500 रुपये का जुर्माना लगेगा। जबकि पहले बिना टिकट चलने पर 200 रुपये का जुर्माना था। नाबालिग को ड्राइविंग करते पकड़े जाने पर अभिभावक या गाड़ी के मालिक दोषी माने जाएंगे। जिसके बाद जुर्माने के तौर पर 25000 रुपये वसूला जाएगा और 3 साल की जेल भी हो सकती है।

Related posts

सनकी आशिक की आशिकी में शाहिद का दमदार किरदार

admin

Leave a Comment