Breaking News Business News

केंद्र सरकार ने गिरती अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए क्या बदलेंगे FM?

How will the central government change FM to handle the falling economy?

कोरोना संकट काल के इस दौर में भारत की अर्थव्यवस्था भी काफी नीचे गिरते जा रही है। भारत की ग्रोथ की बात की जाए तो कई जानकार कहते है कि भारत की ग्रोथ 13% रह गया जिसे पटरी में लाने के लिए कई साल लग सकते है। जिसके तहत राजनीतिक गलियारों में कारोबारी जगत और सोशल मीडिया पर इन दिनों एक अलग ही बहस छिड़ी है जिसमें कहा जा रहा है कि प्रख्यात बैंकर केवी कामथ जल्द ही निर्मला सीतारमण की जगह देश के वित्त मंत्री का पद संभाल सकते हैं। ट्वीटर पर ऐसे कई पोस्ट्स हैं जिनमें यूजर्स इस विषय पर बात कर रहे हैं। कई ट्वीट में लोग सवाल कर रहे हैं कि क्या पीएम नरेंद्र मोदी वित्त मंत्री सीतारमण को हटाने वाले हैं? कुछ ट्वीटस में कहा गया है कि यह महज अफवाह है। ऐसा कुछ नहीं है।

एक जानकार बताते हैं कि मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल अबतक अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर फेल रहा है। देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार हमालवर है। ऐसे में देश की आर्थिक हालात मजबूत करना भाजपा की एनडीए सरकार की पहली प्राथमिकता पर है। लगातार गिरती जीडीपी ग्रोथ में रिकवरी के लिए सरकार इंडस्ट्री के अनुभवी लोगों की मदद चाहती है।

कौन हैं केवी कामथ

नेशनल डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) के अध्यक्ष के रूप में पद छोड़ने वाले कुंदापुर वी कामथ की गिनती देश के प्रख्यात बैंकरों में होती है. कामथ को स्क्रैच से बहुपक्षीय ऋण देने वाली संस्था का निर्माण करने का श्रेय दिया जाता है. 72 साल के कामथ इंफोसिस के चेयरमैन भी रह चुके हैं. उन्होंने 1971 में अपने करियर की शुरुआत आईसीआईसीआई फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन से की थी और इसी संस्था ने आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना की और 2002 में बैंक और इस संस्था का विलय कर दिया गया था। साल 2009 में केवी कामथ ने इस संस्था के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ पद से रिटायरमेंट लिया।

विपक्ष के निशाने पर मोदी सरकार

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा हो चुका है। इस एक साल में देश की अर्थव्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार हमलावार है। कोरोनासंकट काल में 20 लाख करोड़ रुपये की घोषण हुई मगर कांग्रेस इस पर लगातार सवाल उठा रही है. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में रक्षा मंत्री रहीं सीतारमण को दूसरे कार्यकाल में वित्त मंत्री बनाया गया। वित्त मंत्री के तौर पर सोशल मीडिया पर अक्सर वो निशाने पर रहती हैं। अभी हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने मोदी सरकार पर हमला बोला है।

मूडीज द्वारा भारत की रेटिंग घटाये जाने के बाद कहा कि, मूडीज ने मोदी द्वारा भारत की अर्थव्यवस्था को संभालने को कबाड़ (जंक) वाली रेटिंग से एक कदम ऊपर रखा है. गरीबों और एमएसएमई क्षेत्र को समर्थन की कमी का मतलब है कि अभी और अधिक खराब स्थिति आने वाली है. कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर लिखा- लिखा है कि 6 साल में परिवर्तन हुआ है, लेकिन मूडी ने जीडीपी की रैंकिंग को डाउनग्रेड कर दिया है। कांग्रेस नेता ने पूछा कि मोदी जी कहां गए?

Related posts

लॉकडाउन में एक और बड़ा हादसा – मालगाड़ी ने मजदूरों को रौंदा, 16 की मौत

admin

सोनिया गांधी का बड़ा ऐलान, मजदूरों के रेल टिकट का खर्च देगी कांग्रेस पार्टी

admin

बिहार के कई जिलों में गिरी आकाशीय बिजली, कई लोगों की हुई मौत

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1