Breaking News National

पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना और चीनी सेना आमने सामने, भारत ने दिखाई चीन को आंखें

Indian army and Chinese army face to face in eastern Ladakh, India eyes China

भारत ने चीन को स्पष्ट कर दिया है कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना पीछे नहीं हटेगी। सीमा विवाद को लेकर तनाव कम करने के लिए दोनों देशों की सेनाओं में चल रहे बैठकों का दौर जारी है। इस बीच, चीन ने भारत को पूर्वी लद्दाख में फिंगर क्षेत्र से समान दूरी पर पीछे हटने का सुझाव दिया था, जिसे भारत ने दो टूक शब्दों में खारिज कर दिया है। हालांकि, कूटनीतिक स्तर की बातचीत के बाद, दोनों पक्ष सीमा मुद्दे को सुलझाने के लिए सैन्य स्तर की और वार्ताएं करने पर भी काम कर रहे हैं।

यह सारी कवायद पूर्वी लद्दाख में तीन महीने से अधिक समय से चले रहे सीमा विवाद के निपटारे के लिए किया जा रहा है। इस दौरान, शीर्ष सैन्य कमांडरों ने भी अपने क्षेत्रीय कमांडरों को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर किसी भी घटना या कार्रवाई के लिए पूरी तरह से तैयार रहने के लिए कहा है। भारत सीमा पर लंबे समय तक डटे रहने की तैयारी कर रहा है।

फिलहाल, चीनी पैगोंग त्सो झील के पास फिंगर-5 के आसपास हैं और उन्होंने फिंगर-5 से फिंगर-8 तक पांच किलोमीटर से अधिक की दूरी पर बड़ी संख्या में सैनिकों और उपकरणों को तैनात किया हुआ है, जिससे आगे अप्रैल-मई से पहले से चीनी बेस मौजूद हैं। भारतीय पक्ष ने यह स्पष्ट कर दिया है कि चीनी सेना को फिंगर क्षेत्र से पूरी तरह से पीछे हटना चाहिए और अपने वास्तविक स्थान पर वापस जाना चाहिए।

Related posts

अमेरिका से फिर हुई गलती, जानवरों के रिसर्च पर दिए पैसे

admin

लॉकडाउन के बीच सरहद पर पांच जवान शहीद, दो जवान उत्तराखंड से

admin

#COVID-19- वित्तमंत्री द्वारा ने गरीबों सहित अमीरों के लिए लाई कई फायदों की स्कीम

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1