26 C
New Delhi
15/11/2019
Breaking News National

राम के जन्म होने और श्रद्धालुओं के फूल-प्रसाद चढ़ाने का कोई भी दावा सिद्ध नहीं   

No claim of Ram being born and offering flowers and offerings to devotees is proven

उत्तर प्रदेश के विवादित आयोध्या भूमि मामले में मुस्लिम पक्ष की जिरह पूरी हुई। आज मुस्लिम पक्ष की ओर से राजीव धवन ने अपनी दलीलें पेश की। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने लगे हाथ ये इशारा दे दिया। चीफ जस्टिस ने साफ किया कि 16 अक्टूबर को रामजन्म भूमि और बाबरी मस्जिद की सुनवाई खत्म हो जाएगी। सुनवाई खत्म होने के बाद सर्वोच्च न्यायालय अपना फैसला सुनाने में समय नहीं लेगी। बता दें कि आज विवादित भूमि के मामले की 38वें दिन की जिरह की गई। मुस्लिम पक्ष के बाद मंगलवार को हिंदू पक्ष जवाब देगा।

गुम्बद के नीचे राम के जन्म होने और प्रसाद चढ़ाने का कोई भी दावा सिद्ध नहीं  

आज न्यायालय में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने शिड्यूलिंग को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि कोर्ट ने मेरे पक्ष के जवाब के लिए समय तय नहीं किया था। वकील धवन ने गुम्बद को लेकर अपने तर्क रखे। उन्होंने कहा कि गुम्बद के नीचे राम के जन्म होने और श्रद्धालुओं के वहीं फूल-प्रसाद चढ़ाने का कोई भी दावा सिद्ध नहीं किया गया। यहां गुम्बद के नीचे तो ट्रेसपासिंग कर लोग घुस आए थे। जब वहां पूजा चल रही थी तो अंदर घुसने का मतलब क्या है?  

राज्य सरकार कि ओर से मुस्लिमों के अधिकार कि रक्षा का निर्देश हुआ था जारी

इसका मतलब है कि पूजा बाहर ही हो रही थी। जिससे ये बात सिद्ध है कि वहाँ कभी भी मंदिर तोड़कर मस्जिद नहीं बनाई। वहां लगातार नमाज़ होती रही थी। धवन ने कहा कि किसी ने भी आजतक ये नहीं माना कि हिंदुओं का आंतरिक अहाते पर कब्जा था। अगर बेंच मोल्डिंग ऑफ रिलीफ के तहत किसी एक पक्ष को मालिकाना हक देकर दूसरे को विकल्प देती है तो मुस्लिम पक्षकारों का ही दावा बनता है। राजीव धवन ने कहा कि हमारी यही मांग है कि हमें 5 दिसंबर 1992 की स्थिति में जिस तरह का ढांचा था उसी स्थिति में हमें मस्जिद सौंपी जाए। हिंदुओं कि ओर से कई बार अतिक्रमण किया गया। राज्य सरकार कि ओर से मुस्लिमों के अधिकार कि रक्षा का निर्देश भी जारी हुआ। जो यह साफ करता है कि मालिकाना हक मुस्लिमों का है। 

Related posts

होटल पैराडाइस में लगे कैमरे के कैद हुए तिवारी हत्याकांड के हत्यारे

admin

आयोध्या पर सुप्रीम फैसले की घड़ी की टिक-टोक-टिक

admin

राम की नगरी में बना वर्ल्ड रिकोर्ड, सतरंगी लाइट्स से सराबोर हुआ आयोध्या

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1