30.1 C
New Delhi
August 20, 2019
simna
Political & Election State

कर्नाटक के नाटक का राजनीतिक इतिहास, कुमारस्वामी के साथ हुआ हिसाब बराबर

कर्नाटक में चल रहा सियासी नाटक मंगलवार शाम कुमारस्वामी की सरकार गिरने के साथ थम गया। एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस सरकार अल्पमत के चलते फ्लोर टेस्ट में गिर गई। कांग्रेस-जेडीएस के पक्ष में 99 और बीजेपी के पक्ष में 105 वोट पड़े। फ्लोर टेस्ट में अल्पमत की वजह से कुमारस्वामी की सरकार को सत्ता से बाहर होना पड़ा। कर्नाटक का यह पहला मामला नहीं है इससे पहले 2004 में कुमारस्वामी ने भी ऐसा ही कुछ किया था जिससे कांग्रेस की सरकार गिर गई थी। ऐसा में यह कहा जा सकता है कि एचडी कुमारस्वामी ने अपने राजनीतिक जीवन में जो बोया वर्तमान में उन्होनें वह पाया।

2004 में कुमारस्वामी ने गिराई कांग्रेस की सरकार

दरअसल 2004 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कुल 224 सीटों में से बीजेपी को 79, कांग्रेस को 65, जेडीएस को 58 और अन्य को 23 सीटें मिली थी। यानी 2004 में भी किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था। ऐसे में कांग्रेस और जेडीएस के बीच समझौता हुआ और कांग्रेस के धरमसिंह 28 मई 2004 को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने। यह सरकार भी ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकी और पौने दो साल के बाद कुमारस्वामी ने अपने विधायकों के साथ समर्थन वापस ले लिया और धरमसिंह की सरकार को गिरा दिया। 2004 में भी ऐसी ही सियासी  खींचतान देखने को मिली थी जैसा पिछले दो हफ्तों में बेंगलुरु में घटा।

———————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————-

2006 में कुमारस्वामी ने गिराई बीजेपी की सरकार

कुमारस्वामी यही नहीं रूके 2004 में कांग्रेस सरकार गिराने के बाद उन्होनें अपना समर्थन बीजेपी को दिया और राज्यपाल ने जेडीएस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रण दिया। 2006 में बीजेपी के समर्थन से कुमारस्वामी एक बार फिर मुख्यमंत्री बने दरअसल दोनों पार्टियों ने सर्वसम्मति से बराबर समय के लिए दोनों पार्टियों से मुख्यमंत्री बनने की बात को स्वीकारा लेकिन अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद कुमारस्वामी ने 10 नवंबर को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद राज्यपाल को कर्नाटक में राष्ट्रपति शासन लगाना पड़ा।

———————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————————-

2007 में येदियुरप्पा को समर्थन दे फिर गिराई सरकार

कुमारस्वामी को सियासी दांवपेंच का खुमार कुछ ज्यादा ही था तभी तो उन्होनें 12 नंबवर 2007 को बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनाने में पहले बाहर से समर्थन देकर मदद की  और ठीक सात दिनों बाद ही एक बार फिर कुमारस्वामी ने बीजेपी सरकार से समर्थन वापस ले लिया, जिसके चलते येदियुरप्‍पा को मुख्यमंत्री पद गंवाना पड़ा। इतिहास के पन्नों में एचडी कुमारस्वामी ने मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों के साथ ही छल किया और इसमें कोई दोराए नहीं है कि ऐसा ही कुछ बीजेपी ने कुमारस्वामी की सरकार को गिराकर किया।

Related posts

निर्वाचन आयोग के फैसले के खिलाफ दायर याचिका खारिज

admin

वास्तविक मुद्दें बन सकती है कांग्रेस के लिए टोटा इसलिए गढ़े जा रहे है झूठे मुद्दे – जेटली

admin

जम्मू कश्मीर में जारी सियासत , विपक्ष ने मांगा UPDATE

admin

Leave a Comment