26 C
New Delhi
15/11/2019
Breaking News National

जम्मू कश्मीर पर खुलकर बोले शाह, सभी आरोपों के दिए जवाब

Shah openly speaks on Jammu and Kashmir, answers to all allegations

मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर पर अपने विचार साझा किए। कश्मीर के हालातों और लगाए गए आरोप-प्रत्यारोप पर जवाब देते हुए गृह मंत्री शाह ने कहा कि कश्मीर के मौजूदा हालात बहुत अच्छे है। मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले पर बल देते हुए उन्होनें कहा कि घाटी में शांत माहौल है और इस माहौल को बनाने के लिए एक भी गोली नहीं चलाई गई है। गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर से जुड़े हर मुद्दे पर स्पष्टीकरण दिया और साथ ही मोदी सरकार के द्वारा लिए गए हर कार्यों की सराहना की।

गिरफ्तार किए गए 4,000 लोगों की संख्या अब 1,000 से भी कम

जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य और अनुच्छेद 370 को खत्म करने के दौरान हिरासत में लिए गए नेताओं और गिरफ्तारी पर बोलते हुए गृह मंत्री शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद 4,000 लोगों को हिरासत में लिया गया था। जिनमें से 1,000 से भी कम लोग आज जेल में है। गिरफ्त में 800 की संख्या ऐसे लोगों की है जो पत्थरबाजी के लिए जाने जाते है। इसलिए जब कोई घटना ताजी हो तो उकसावे का काम सही नहीं होता।

पीएसए के तहत हाउस अरेस्ट में उमर और मुफ्ती  

वक्त के साथ बाकियों की कार्यवाही स्थगित कर रिहा किया जा सकता है। गिरफ्तार किए गए लोगों के अलावा जम्मू कश्मीर के बड़े नेताओं पर बोलते हुए शाह ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला पर किसी तरह की कोई रोक नहीं है। जबकि उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत हाउस अरेस्ट में है।

शाह ने कांग्रेस को लगाई लताड़

जम्मू कश्मीर पर कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए गृह मंत्री शाह ने कहा कि आज कांग्रेस जम्मू-कश्मीर पर लिए गए फैसले का विरोध कर रही है। उन गिरफ्तारियों का विरोध कर रहे है जो पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत हाउस अरेस्ट किए गए है। कांग्रेस ने खुद शेख अब्दुल्ला को 11 साल कैद में रखा था। 370 के कारण राज्य का विकास नहीं हो सका। राज्य में भ्रष्टाचार हुए पर जिम्मेदारी किसी की तय नहीं की गई। लेकिन अब वहाँ 370 नहीं है इसलिए अब विकास नीचे तक पहुँचेगा। 

Related posts

अपने गिरेबान में झांक कर देखें खुद को हरिश्चन्द्र बताने वाले : मायावती

admin

प्रकाशोत्सव के लिए श्रद्धालु तैयार, पासपोर्ट की अनिवार्यता को लेकर असमंजस में पाक

admin

इस्तीफे के बाद शिवसेना और भाजपा के रुख में आए तेवर, आरोप और प्रत्यारोप का दौर शुरू

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1