30.1 C
New Delhi
August 20, 2019
simna
Crime

मासूम बच्ची की निर्मम हत्या की जाँच के लिए एसआईटी का गठन

Simna News

लखनऊ || उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम बच्ची के साथ हुए जघन्य अपराध के मामले की जांच के लिए एसएसपी ने एसआईटी का गठन किया है। बता दें कि इस टीम की अगुवाई एसपी क्राइम और एसपी देहात करेंगे। जिसमें छह लोगों को शामिल होगे। एसपी देहात मणिलाल पाटीदार इस टीम के प्रभारी होंगे। इसमें सीओ खैर, चार विवेचक के साथ एक महिला थाना इंचार्ज सुनीता मिश्रा को टीम में शामिल किया गया है। इस मामले की जांच में मदद के लिए एफएसएल और एसओजी टीम को भी लगाया गया है। गौरतलब है कि यह मामला दो समुदाय से जुड़ा है इसलिए एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पूरे इलाके में व्यवस्था चाक चौबंध कर रखी है। आरोपियों के गिरफ्तारी के बाद सभी लोग आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की बात कर रहें है।

Simna News
Simna News
 10 हजार बकाया के  लिए बच्ची की निर्मम हत्या

बता दें कि अलीगढ़ जिले के टप्पल में ढ़ाई साल की बच्ची का शव 2 जून को घर के पास क्षत-विक्षत हालत में कूड़े के ढेर में मिला था। उसका एक हाथ गायब था और आंखें बाहर निकली हुई थीं। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को जांच के लिए एसआईटी भी बनाई। घटना पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, अभिनेता आयुष्मान खुराना जैसी तमाम हस्तियों ने रोष प्रकट किया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने कहा है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ, बल्कि गला दबाकर हत्या की गई। हालांकि, परिवार ने दुष्कर्म की आशंका जताई थी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी जाहिद ने बच्ची के दादा से 50 हजार रुपए उधार लिए थे। इनमें से 10 हजार बकाया थे, पैसे नहीं देने पर 28 मई को जाहिद की दादा के साथ कहासुनी हुई। उसने परिवार से बदला लेने की धमकी दी थी। इसके बाद 30 मई को जाहिद ने बच्ची का अपहरण किया और हत्या कर साथी असलम की मदद से शव को ठिकाने लगाया।
Simna News
Simna News

 एसआईटी फास्ट ट्रैक आधार पर होगी कार्रवाई

इसके साथ ही इस घटना  की फॉरेंसिक रिपोर्ट आगरा भेज दी गई है। इस घटना को लेकर पुलिस सोशल मीडिया पर लोगों को जानकारी दे रही है। मामले में एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार का कहना है कि मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। फॉरेंसिक साइंस टीम, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और विशेषज्ञों की एक टीम को भी एसआईटी में शामिल किया गया है। इस मामले में एसआईटी फास्ट ट्रैक आधार पर कार्रवाई करेगी। आरोपियों के खिलाफ पोक्सो एक्ट और एनएसए के तहत भी कार्रवाई की जा रही है।

Related posts

बरसों बाद मिले अस्तित्व को शक की गहराईयों ने उतारा मौत के घाट

admin

सबसे बेहतर सपा-बसपा गठबंधन, 74 सीटों पर सिमटकर रह जाएगी भाजपा – अखिलेश

admin

पहले रचाई शादी , फिर दुल्हन ने किया घर साफ …

admin

Leave a Comment