Breaking News National

पीएम मोदी के लद्दाख दौरे की तीन महत्वपूर्ण बातें

Three important things of PM Modi's Ladakh tour

बॉर्डर पर चीन से जारी तनातनी के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक सुबह लेह पहुंचे। पीएम मोदी का ये दौरा अचानक था, जिससे हर कोई चौंक गया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत भी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री मोदी को सेना, वायुसेना के अधिकारियों ने जमीनी हकीकत की जानकारी दी।  प्रधानमंत्री ने लेह के वॉर मेमोरियल हॉल ऑफ फेम पहुंच कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।

यह भी पढ़े- पीएम मोदी के लेह-लद्दाख दौरे से लगी चीन को मिर्ची

इसके बाद उन्होंने सेना के अस्पताल में घायल जवानों से मुलाकात की। अपनी इस यात्रा में पीएम मोदी ने सीमा पर तैनात जवानों की हौसला अफजाई कर भारतीय सैनिकों के पराक्रम की सराहना की। पीएम मोदी ने जवानों को संबोधित किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय सैनिकों के पराक्रम की सराहना की। पढ़ें पीएम मोदी के भाषण की तीन बड़ी बातें।

‘विस्तारवाद पर कटाक्ष- इतिहास गवाह है कि ऐसी ताकतें मिट जाती हैं’

पीएम मोदी ने चीन  हरकतों पर तंज कसते हुए कहा कि विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है और अब विकासवाद का है। तेजी से बदलते समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए अवसर हैं, यही विकास का आधार है। बीती शताब्दी में विस्तारवाद ने ही मानव जाति का विनाश किया। किसी पर विस्तारवाद की जिद सवार हो तो हमेशा वह विश्व शांति के सामने खतरा है। मोदी ने कहा कि इतिहास गवाह है कि ऐसी ताकतें मिट जाती हैं। बता दें कि चीन समय-समय पर लद्दाख, अरुणाचल के इलाकों पर अपना दावा जताता रहता है। इतना ही नहीं, हाल ही में रूस और भूटान की कुछ जमीन पर भी उसने अपना दावा किया था।

‘राष्ट्र से जुड़े मुद्दों पर दो माताओं के बारें में सोचता हूं’

पीएम ने कहा कि जब-जब वह राष्ट्र रक्षा से जुड़े फैसले के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले दो माताओं को याद करते हैं। पहली हमारी भारत माता, दूसरी वे वीर माताएं जिन्होंने सैनिकों को जन्म दिया। इसके बाद पीएम ने कहा कि जवानों के सुरक्षा उपकरणों और हथियारों की हरसंभव मदद की कोशिश सरकार कर रही है। मोदी बोले, हम सशस्त्र बलों की जरूरतों पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। मोदी ने कहा कि आपका ये हौसला, शौर्य और मां भारती के मान-सम्मान की रक्षा के लिए आपका समर्पण अतुलनीय है। जिन कठिन परिस्थितियों में जिस ऊंचाई पर आप मां भारती की ढाल बनकर उसकी रक्षा, उसकी सेवा करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता।

अत्याधुनिक हथियार के साथ हर भारतीय का साथ

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान जहाँ जवानों को उनकी साहस का अहसास दिलाया वहीं यह भी भरोसा दिलाया कि उनके साथ पूरा देश खड़ा है। समुद्रतल से करीब 11000 फुट की ऊंचाई पर स्थित नीमू में जवानों व अधिकारियाें को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने उनकी बहादुरी, कर्तव्य, निष्ठा, राष्ट्रभक्ति और बलिदान की भावना की सराहना की। पूरा देश उनके पीछे एक मजबूत दीवार की तरह खड़ा है। उन्हाेंने दुश्मन के दुस्साहस का मुहंतोड़ जवाब देन के लिए जवानों को सराहते हुए कहा कि पूरे देश को उन पर गर्व है। उन्होंने कहा कि सभी सेनाओं और अर्धसैनिकबलों को सभी मूल ढांचागत सुविधाएं और अत्याधुनिक हथियार उपलब्ध कराए जाएंगे।

Related posts

सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड के होगें परीक्षा, जाने क्या है दिशा-निर्देश

admin

भारत में बढ़े कोरोना के मामले, चौथे स्थान पर भारत रिकवरी रेट पर भारत की पकड़

admin

भारतीय सेना के रक्षा डील के समझौते भी गए रोके, स्थिति सामान्य होने का इंतजार

admin

Leave a Comment

UA-148470943-1